Now Reading
उस्ताद बिस्मिल्ला खा जीवन परिचय

उस्ताद बिस्मिल्ला खा जीवन परिचय

Avatar

 

1.जब भी बिस्मिल्ला खा का ज़िक्र होता है तो उनके साथ शहनाई को ज़रूर जोड़ा जाता है 

2.स्वर्गीय उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ां भारत में शहनाई के सबसे प्रसिद्ध वादक समझे जाते हैं

3.बिस्मिल्ला खाँ का जन्म  21 मार्च, 1916 को  बिहारी मुस्लिम परिवार में  के यहाँ बिहार के डुमराँव के ठठेरी बाजार  में हुआ था

4.पैगम्बर खाँ और मिट्ठन बाई इनके माता पिता थे इनका जन्म एक किराये के मकान में हुआ था 

5.बिस्मिल्ला खाँ का बचपन में नाम कमरुद्दीन था उनके जन्म की ख़ुशी म उनके पिता ने अल्लाह को धन्यवाद करने के लिए उनका नाम बिस्मिल्ला खा रखा 

6.उनके पिता बिहार की डुमराँव रियासत के महाराजा केशव प्रसाद सिंह के दरवार में शहनाई बजाया करते थे

7.इनके खानदान के लोग दरबारी राग बजाने में माहिर थे 

8. 6 साल की उम्र में बिस्मिल्ला खाँ अपने पिता के साथ बनारस आ गये वहाँ उन्होंने अपने मामा अली बख्श से शहनाई बजाना सीखा उनके उस्ताद मामा ‘विलायती’ विश्वनाथ मन्दिर में स्थायी रूप से शहनाई-वादन का काम करते थे

9.बिस्मिल्ला जी चाहे मुस्लिम थे पर फिर भी वे हिन्दू धार्मिक गतिविधियों में भाग लेते थे तथा रोज़ बनारस के घाट पर नाहा के 6 घंटे मंदिर में रियाज़ किया करते थे 

See Also

10. 16 साल की उम्र में मुग्गन ख़ानम के साथ हुआ जो उनके मामू सादिक अली की दूसरी बेटी थी

11.उनसे उन्हें 9 संताने हुई इनके परिवार में 66 व्यक्ति थे जिनका पालन पोषण वे अकेले करते थे 

12.वे बनारस से दूर नहीं रहना चाहते थे वे गंगा नदी व् कशी विश्वनाथ मंदिर से बहुत प्रेम करते थे  वे जात पात को नहीं मानते थे उनके लिए संगीत ही उनका धर्म था

13.सन् 2001 में उन्हें भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया

14. 21 अगस्त 2006 को 90  वर्ष की उम्र में इनकी मृत्यु होगयी 

What's Your Reaction?
Excited
0
Happy
0
In Love
0
Not Sure
0
Silly
0
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top